ये वीरानियों भरी ज़िन्दगी ठहरी सी थी तबतक
जबतक मैं चला नहीं था उनकी यादों के सहारे !

 

Ye veeraniyon bhari zindagi thehri si thi tabtak

Jabtak main chala nahi tha unki yaadon ke sahare